Banking Guru » एटीएम कार्ड » एटीएम कार्ड कितने प्रकार के होते है 2022

एटीएम कार्ड कितने प्रकार के होते है 2022

एटीएम कार्ड कितने प्रकार के होते है atm kitne prakar ke hote hain : अगर आपका बैंक अकाउंट है तो आपके पास एटीएम कार्ड जरूर होगा। अगर आपके पास नहीं है तब आप नई डेबिट कार्ड मंगवाने वाले होंगे। इससे पहले आपको जानना चाहिए कि भारत में कितने प्रकार के एटीएम कार्ड होते है और इसमें क्या – क्या सुविधाएँ मिलती है। यहां हमने मुख्यतः 6 प्रकार के एटीएम कार्ड को लिस्ट किया है। इन सभी एटीएम कार्डों में कुछ समानता है, तो कुछ विभिन्नता।

सन 1966 में एटीएम कार्ड का अविष्कार हुआ तब पैसे निकालने और ऑनलाइन पेमेंट करने के तरीके ही बदल गए। वर्तमान में बैंकों द्वारा जारी किये जाने वाला डेबिट कार्ड हमारे जीवन का अहम हिस्सा बन चुका है। इस कार्ड के द्वारा हम सुरक्षित रूप से एटीएम मशीन से पैसे निकालते है, ऑनलाइन शॉपिंग करते है और आउटलेट्स पर बिल पेमेंट करते है। आज यह एटीएम कार्ड इतना एडवांस हो गया है, कि विदेश में घूमने जाने के लिए आपको अपने पास पैसे रखने की जरुरत नहीं है। डेबिट कार्ड से आप विदेश में ही उनकी करेंसी में पैसे निकाल सकते हो।

तो चलिए जानते है कि इतना एडवांस सुविधा प्रदान करने वाला और दैनिक जीवन को आसान बनाने वाला एटीएम कार्ड कितने प्रकार के होते है और कौन से एटीएम कार्ड में क्या – क्या सुविधाएँ मिलती है।

atm-kitne-prakar-ke-hote-hain

भारत में 6 प्रकार के एटीएम कार्ड होते है

1. वीजा एटीएम कार्ड (Visa Debit Card)

वीजा एटीएम कार्ड भारत में उपलब्ध सभी एटीएम कार्ड में सबसे ज्यादा पसंद किये जाने वाले डेबिट कार्ड है। Visa एक अमेरिकी मल्टीनेशनल कंपनी के अंतर्गत आता है। इस कार्ड को सबसे ज्यादा पसंद किए जाने के कारण अधिकांश भारतीय बैंकों में वीजा एटीएम कार्ड जारी किये जाते है। इस कार्ड पसंद करने का मुख्य कारण यह है, कि वीजा कार्ड से लेनदेन में और ऑनलाइन भुगतान में काफी सिक्योरिटी मिलती है।

वीजा एटीएम कार्ड पर विश्व स्तर पर सर्विस मिलती है और यह 24 घंटे काम करती हैं। वीज़ा द्वारा ,मिलने वाली 24 घंटे की सर्विस के कारण ऑनलाइन शॉपिंग काफी आसान हो जाती है। visa atm card क्लासिक, गोल्ड और प्लैटिनम कार्ड जारी करती है। वीज़ा द्वारा प्रदान किया जाने वाला सबसे एडवांस सिक्योरिटी सिस्टम इसे सबसे बेहतरीन एटीएम कार्ड बनाती हैं।

2. वीज़ा इलेक्ट्रान एटीएम कार्ड (Visa Electron Debit Card)

वीज़ा इलेक्ट्रान एटीएम कार्ड में मिलने वाली सुविधा वीज़ा डेबिट कार्ड की तरह ही हैं। लेकिन वीज़ा इलेक्ट्रॉन डेबिट कार्ड में ओवरड्राफ्ट की सुविधा नहीं होती है। अधिकांश लोग इस डेबिट कार्ड का उपयोग इसलिए करते है, क्योंकि ये बहुत चार्ज पर आसानी से मिल जाते हैं।

लेकिन वीज़ा इलेक्ट्रान एटीएम कार्ड पर लेन-देन लिमिटेड है। जैसे कि कार्ड धारक केवल एक निश्चित अमाउंट तक ही खर्च कर सकते हैं। इससे हमें ये कार्ड फिजूल खर्च से बचाता है। इस कार्ड के द्वारा कॅश निकालते समय कोई चार्ज नहीं लगाता है। इन कार्ड के इस्तेमाल से धोखाधड़ी का खतरा अन्य एटीएम कार्ड की तुलना में कम होता है। क्योंकि इसमें ट्रांसक्शन लिमिटेड होती है।

3. मास्टरकार्ड एटीएम कार्ड (MasterCard Debit Card)

मास्टरकार्ड एटीएम कार्ड भारत में सबसे ज्यादा डेबिट कार्ड जारी करने वाले कार्ड सर्विस में से एक है। यह भी एक अमेरिका का वित्त कंपनी है। ये कार्ड अपनी तेज़ और सुरक्षित ट्रांसक्शन सर्विस प्रदान करती है। इसके साथ ही बेहतरीन कस्टमर सपोर्ट मुहैया कराती है। इस कार्ड में काफी अच्छे ऑफर भी मिलते है। इंटरनेशनल स्तर में सर्विस प्रदान करने वाली यह एटीएम कार्ड जारी करने वाली बेहतरीन कंपनी है।

4. कॉन्टैक्टलेस एटीएम कार्ड (Contactless Debit Card)

अब नई टेक्नोलॉजी के तहत कॉन्टैक्टलेस एटीएम कार्ड भी जारी किये जाते है। इसके द्वारा आप एटीएम मशीन पर अपने कार्ड को सिर्फ दिखाकर या कहे पास लेजाकर लेनदेन कर सकते है। भारतीय रिजर्व बैंक के नियमों के अनुसार, आप 2000 रूपये से कम पैसे बिना एटीएम पिन के ही निकाल सकते है।

आंकड़ों के अनुसार भारत में उपभोक्ताओं द्वारा किये गए 60% ट्रांसक्शन 2000 रूपये से कम के होते है। यह आंकड़े को देखते हुए बैंकों ने कॉन्टैक्टलेस डेबिट कार्ड जारी करने के बारे में सोचा। कॉन्टैक्टलेस एटीएम कार्ड द्वारा किये गए ट्रांसक्शन नियर फील्ड टेक्नोलॉजी द्वारा बिलकुल सुरक्षित होते है। ये डेबिट कार्ड छोटी -छोटी शॉपिंग करने के लिए काफी आसान और सुविधाजनक हैं।

5. रुपे एटीएम कार्ड (RuPay Debit Card)

रुपे एटीएम कार्ड भारत की अपने तरह की पहला पेमेंट नेटवर्क है। RuPay डेबिट कार्ड एटीएम, ऑनलाइन शॉपिंग, POS डिवाइस पर बहुत ही सुरक्षित ट्रांसक्शन प्रदान करता है। रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया ने 2012 में घरेलू बाजार में इस डेबिट कार्ड को लॉन्च किया था। रुपे एटीएम कार्ड ग्रामीण क्षेत्रों के लिए आसानी से अवेलेबल है। इसके साथ ही बहुत कम चार्ज में देना होता है। इसलिए इस कार्ड को एक अच्छा विकल्प मानते है। अन्य मल्टीनेशनल कंपनियों द्वारा जारी एटीएम कार्ड की तुलना में रुपे एटीएम कार्ड ज्यादा फ्लेक्सिबल है और अधिक सुविधा भी प्रदान करते है।

6. मेस्ट्रो एटीएम कार्ड (Maestro Debit Card)

मेस्ट्रो एटीएम कार्ड मास्टरकार्ड कंपनी की ही एक ब्रांड है। यह एकमात्र ऑनलाइन, पिन-आधारित डेबिट ब्रांड है, जिसका उपयोग दुनिया भर के एटीएम से शॉपिंग करने और कॅश निकालने के लिए किया जा सकता है। यह एटीएम कार्ड सुरक्षित ट्रांसक्शन सर्विस प्रदान करती है। आप किसी भी देश में घूमने गए हो तब अपने मेस्ट्रो एटीएम कार्ड से उस देश की लोकल करेंसी निकाल सकते हो।

कुछ बैंकों को छोड़कर लगभग अधिकांश भारतीय बैंक मेस्ट्रो डेबिट कार्ड प्रदान करता है। 1.5 करोड़ से अधिक PoS आउटलेट्स में ये अपनी सर्विस उपलब्ध करवा रही है जिसके कारण ये काफी लोकप्रिय है। ये एटीएम कार्ड उपयोग करने में काफी आसान है, फास्ट ट्रांसक्शन प्रदान करती है और लेनदेन में कम चार्ज लगाते है। अधिकांश लोग इस कार्ड का इस्तेमाल इसलिए करते है क्योंकि इसमें लेटेस्ट सिक्योरिटी सिस्टम है और इंटरनेशनल सर्विस मुहैया कराती है।

वेब स्टोरीज के माध्यम से देखें एटीएम/डेबिट कार्ड प्रकार

इसे पढ़ें – मोबाइल से एटीएम कार्ड कैसे बनाएं

सामान्य प्रश्न (FAQ)

बैंक में पुराने मैग्नेटिक स्ट्रिप्स के बजाय चिप-आधारित एटीएम कार्ड क्यों जारी कर रहे हैं ?

एक चिप आधारित एटीएम कार्ड में एक माइक्रोचिप लगा होता है। चिप से छेड़छाड़ करना बहुत मुश्किल है। यह एक अतिरिक्त सिक्योरिटी सिस्टम है। चिप आधारित डेबिट कार्ड धोखाधड़ी से होने वाले लेनदेन को रोक सकता है। रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया के वर्तमान दिशानिर्देशों के अनुसार, सभी बैंकों के लिए चिप आधारित एटीएम कार्ड जारी करना अनिवार्य है।

एटीएम कार्ड में 4 अंको का पिन क्या है ?

एटीएम कार्ड के 4 अंक का पिन एक तरह से कार्डधारक की पहचान है। जब बैंक डेबिट कार्ड जारी करता है, ऑनलाइन पिन या एटीएम मशीन पर पिन बनाने की सुविधा प्रदान करता है। आपको कभी भी अपना पिन नंबर बदल सकते है। डेबिट कार्ड से पैसे निकालने या ऑनलाइन पेमेंट करते समय ये 4 अंक का पिन देना होता है। इससे किसी अन्य व्यक्ति के द्वारा आपके कार्ड का गलत इस्तेमाल होने से रोकने में मदद करता है।

डेबिट कार्ड के लिए क्या कोई चार्ज देना पड़ता है ?

हाँ, बैंक अपने खाताधारकों को डेबिट कार्ड जारी करता है, इसके एवज में चार्ज लेती हैं। इसके साथ ही कार्ड के रखरखाव हेतु साल में एक बार चार्ज काटती है। निर्धारित लिमिट से अधिक बार एटीएम से पैसे निकालने में चार्ज लिया जाता है। ये चार्ज सीधे आपके बैंक अकाउंट से ले लिए जाते है।

एटीएम कार्ड कितने प्रकार के होते है, इसकी जानकारी स्टेप by स्टेप बहुत सरल तरीके से यहाँ बताया गया है। अब कोई भी खाताधारक एटीएम के इन 6 प्रकार के बारे में जान पायेगा। इससे उन्हें एटीएम कार्ड सेलेक्ट करने में आसानी होगी। अगर एटीएम कार्ड से सम्बंधित आपके मन में कोई अन्य सवाल तो नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है। हम बहुत जल्दी आपको रिप्लाई करेंगे।

एटीएम कितने टाइप के होते है, इसकी जानकारी सभी लोगों के लिए बहुत उपयोगी है। इसलिए इस जानकारी को उन्हें व्हाट्सएप्प व्हाट्सएप्प ग्रुप एवं फेसबुक में शेयर जरूर करें। इस वेबसाइट पर एटीएम कार्ड से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करते है। अगर आप ऐसे ही नई – नई जानकारी सबसे पहले पाना चाहते है, तो गूगल सर्च बॉक्स में सर्च कीजिये – bankingguru.in धन्यवाद !

शेयर करें :

हेलो दोस्तों, भारत के लगभग सभी प्रमुख बैंकों में मेरा बैंक अकाउंट है और बैंकिंग सर्विसेज को उपयोग करने का मुझे 10 वर्षों का अनुभव है। इस वेबसाइट पर आपको इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग और नई बैंकिंग सेवाओं का उपयोग आसान और सुरक्षित रूप से कैसे करना है, इसकी पूरी जानकारी मिलेगा।

Leave a Comment